Tyaag Hai Jeevan Raag

त्याग है जीवन राग

लाग है जीवन राग, ओ मुसाफिर अब तो जाग…

ओ मुसाफिर अब तो जाग…

रिश्ते हैं ये बंधन सारे, कब तक तुम बंधी ., त क (२)

सुख नाम की छलना में, कब तक तुम रहोगे…

कब तक तुम रहोगे…

छोड़ो ये अनुराग, त्याग है जीवन राग…

त्याग है जीवन राग…

एक जनम की बात नहीं, जनम-जनम का फेरा…

कह (२)

देह बदल के चलता रहेता, साँसों का ये डेरा…

साँसो का ये डेरा… भाग सके तो भाग, त्याग है जीवन राग… ।

त्याग है जीवन राग…

जिसने छोड़ा उसने जोड़ा, प्रभु परम से नाता…

दीक्षा धर्म यही सबको, पल-पल है समझाता…

पल-पल है समझाता…धूल जाएँगे तेरे दाग, त्याग है जीवन राग…

त्याग है जीवन राग, ओ मुसाफिर अब तो जाग..

ओ मुसाफिर अब तो जाग…

Name of Song : Tyaag Hai Jeevan Raag

Language of Song : Hindi

© 2023 by Jain Lyrics.