Jai Ho Girnar

HINDI

गिरनारगिरी तारण तरण जहाज,

नेमनाथ दादो मारो गिरी शिरताज,

तारा गूण गाता गिरी थाय बेडो पर,

हाथ मारो झाली हवे भव पर उतार,

तुज मारो श्वास गिरी तुज विश्वास,

तुज एक गिरी मारी आश

जय हो गिरनार

गरवो गिरनार

तार गिरी तार मने भवसागर ताराव तुं,

तुज भक्ति तुज शक्ति तुं शरण आधार,

तार गिरी तार मने भव निस्तार करवा तुं,

तुज मती तुज गति तुं परम आधार

गिरनार तारो छे संगाथ,

माथे हाथ तारो नेमनाथ,

भवोभव मळजो तारो साथ,

स्वीकारो अरज नाथ,

तुज मारुं हित गिरी,

तुज मारी प्रीत छे,

तुज मारुं स्मित गिरी,

तुज मारी रीत छे

तुज मारो श्वास गिरी तुज विश्वास,

तुज एक गिरी मारी आश

जय हो गिरनार

गरवो गिरनार

तारुं शरणुं जेणे स्वीकार्युं,

गिरी कर्या अनंत उद्धार,

सिद्ध पद गिरी गिरिराय,

मने तारी करो उपकार,

तुज मारुं हित गिरी,

तुज मारी जीत छे,

तुज मारुं लक्ष गिरी,

तुज थकी मोक्ष छे

तुज मारो श्वास गिरी तुज विश्वास,

तुज एक गिरी मारी आश

जय हो गिरनार

गरवो गिरनार

© 2023 by Jain Lyrics.