Guru Kahu Sadguru Kahu

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ, या कहूँ भगवान तुझे…

ले चरण की छाँव में, दे दिया जीवन मजे..

हो… दे दिया जीवन मुझे…

ना पता जाऊँ किधर, अब रास्ते खुद ही मिले,

मिल गई है दिशा, अब दीप राहों में जले,

तेरे प्यार से मिल गया, जीने का मकसद मुझे..

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ, या कहूँ भगवान तुझे…

ना रहे याद कुछ, एक गुरु तेरे सिवा,

शरण में तेरी रहूँ, या जाऊँ मैं चाहें जहाँ,

जहाँ देखू वहाँ मुज़े, रुप तेरा ही दिखे..

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ, या कहूँ भगवान तुझे…

निष्ठा ऐसी हो गुरु, तेरी सेवा कर पाऊँ मैं,

तुज़को पाके हे गुरु, खुद को ही पाऊँ मैं,

है मेरी आशा यही, तेरे चरणों में मुक्ति मिलें…

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ, या कहूँ भगवान (ि

ना हो डगमग कभी, जो है मेरी आस्था,

जब तक रहूँ करता रहूँ, मैं तो तेरी अर्चना,

हे युग दिवाकर यहीं, देना वरदान मुझे….

गुरु कहूँ, सद्गुरु कहूँ, या कहूँ भगवान तुज…

Name of Song : Guru Kahu Sadguru Kahu

Language of Song : Hindi

© 2023 by Jain Lyrics.